डायबिटीज से छिन सकती है नेत्र ज्‍योति, बचाव ही इलाज 5/5 (1)

0

Diabetic Retinopathy Screening camp at Netra Jyoti Kendra, (Dr. Pradeep Sane) Nehru Nagar, Agra on 20/11/14 from 10am – 12pm. was organised by All India Ophthalmological Society, Netra Joyti Kendra, Agra along with Antardrishti.

आगरा में डायबिटीज आई स्‍क्रीनिंग कैंप में 110 मरीजों का परीक्षण

आगरा। नेहरू नगर स्थित नेत्र ज्‍योति केंद्र पर गुरुवार को डायबिटीज आई स्‍क्रीनिंग कैंप का आयोजन किया गया। ऑल इंडिया ऑप्‍थॉलमोलॉजी सोसायटी और अंतरदृष्‍ट्री संस्‍था के तत्‍वावधान में हुए इस कैंप में डॉ. प्रदीप साने और उनकी टीम ने मरीजों का नेत्र परीक्षण किया।

इस दौरान डॉ. साने ने कहा कि मधुमेह से अंधे होने का खतरा होता है, अगर इस दौरान वक्‍त पर चिकित्‍सक से सलाह और सावधानी न ली गई तो व्यक्ति के जीवन की खुशियां और आंखों की ज्योति दोनों ही छिन सकती है। इस समस्‍या को डायबिटिक रेटीनोपैथी कहा जाता है। डॉ. साने ने कहा कि शरीर में शुगर का स्‍तर अधिक होने पर आंखों पर दुष्‍प्रभाव पड़ता है। मधुमेह के रोगियों की सामान्‍य व्‍यक्तियों की तुलना में दृष्टिहीन होने की आशंका 25 गुना तक बढ़ जाती है।

डॉ. साने ने कैंप में 110 डायबिटीज के मरीजों का नेत्र परीक्षण किया गया। इसमें से 20 मरीज में मधुमेह का आंखों के पर्दे पर गंभीर दुष्‍प्रभाव पाया गया। इन मरीजों को अगली जांच की सलाह दी गई है। अन्‍य 30 मरीजों की आंखों के पर्दे पर आरंभिक दुष्‍प्रभाव पाया गया। उन्‍हें आंखों की समय-समय पर जांच करवाते रहने की सलाह दी गई है।

इस दौरान मरीजों को पुस्‍तिका और पोस्‍टर के द्वारा मधुमेह का आंखें पर दुष्‍प्रभाव की जानकारी दी गई। इसमें अंतरदृष्‍टी संस्‍था ने सहयोग किया।

Read Also -  रेटिनोब्लास्टोमा - बच्चों की आंखों का कैंसर जागरूकता पोस्टर

कार्यक्रम में हुए डायबिटीज आई स्‍क्रीनिंग कैंप की रिपोर्ट ऑल इंडिया ऑप्‍थॅलमोलॉजी सोसायटी को भेजी जाएगी। सोसायटी ने देशभर में इस तरह के कैंप आयोजित करवाए हैं और इससे प्राप्‍त डेटा को डायबिटिक रेटीनोपैथी के बचाव बारे में प्रचार -प्रसार के इस्‍तेमाल में लाया जाएगा।

Like this Article? Subscribe to Our Feed!

Please rate this

About Author

Comments are closed.