फेसबुक की वर्चुअल दुनिया से जुड़े 140 नेत्रहीन जुटेंगे आगरा में No ratings yet.

0

7 से 9 नवम्बर को आगरा रचेगा नया इतिहास

तीन दिवसीय अधिवेशन अंबेडकर विश्वविद्यालय के जुबली हॉल में

आगरा। आगामी 7 से 9 नवम्बर को आगरा एक नया इतिहास रचने जा रहा है। यहां पर जब देशभर के 140 नेत्रहीन फेसबुक की वर्चुअल दुनिया से अलग एक दूसरे से रू-ब-रू होंगे।

अंतरदृष्टि संगठन और ब्लाबइंड स्टालर द्वारा संयुक्ते रूप से आगरा में तीन दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन ‘ब्लाटइंड स्टाफर बियाडं फेसबुक –व्रिजिंग द गैप’ का आयोजन किया जा रहा है। यह कार्यक्रम डॉ. बीआर अंबेडकर विश्वविद्यालय के गोल्डेन जुबली हॉल में होगा।

आज संजय प्लेडस स्थिति यूथ हास्टिल में हुई प्रेस वार्ता के दौरान आयोजन समिति की अध्ययक्ष संगीता भटनागर ने कहा कि पहली बार इस तरह अधिवेशन हो रहा है, जिसमें देश के सरकारी, गैर सरकारी और कॉरपोरेट कंपनियों में आम लोगों की तरह काम करने वाले नेत्रहीन लोग शामिल होंगे। उन्हों ने कहा कि जानकारी और संसाधनों का अभाव से जूझ रहे दृष्टिहीनों को समाज की मुख्यनधारा से जोड़ने और सशक्त बनाने के उद्देश्य से अधिवेशन आयोजित किया जा रहा है।

अधिवेशन में देश से 140 से ज्यादा दृष्टीहीनों के शामिल होने की संभावना है। ये वो दृष्टीहीन लोग हैं, जो ये मानते हैं कि उन्होंने अपने आप को समाज में स्थापित कर लिया है, अब बारी है ऐसे नेत्रहीनों को समाज से जोड़ने की, जिनके पास जानकारी और संसाधनों का अभाव है।

अंतरदृष्टी संस्था के मुख्य ट्रस्टी अखिल श्रीवास्तव ने कहा कि कार्यक्रम के माध्यम से समाज को मैसेज देने की कोशिश होगी कि नेत्रहीन केवल दया और दान के पात्र नहीं है। बल्कि वे समाज की मुख्ये धारा में आम लोगों की तरह काम कर सकते हैं।

Read Also -  Govt. reduce blindness by changing definition from 1.20 crore to 80 lakh

प्रेस वार्ता के दौरान आयोजन समिति के सदस्य योगेंद्र दुबे ने बताया कि अपनी तरह के पहले राष्ट्रीय अधिवेशन में बहुत सी नये प्रयोग हो रहे है, जैसे कि इस अधिवेशन कारपोरेट लीडर और एच आर मैनेजरों के साथ एक कार्यशाला का आयोजन किया जायेगा।

कार्यक्रम में हैदराबाद की नेहा अग्रवाल निजी क्षेत्रों में नौकरी में दृष्टिहीनों की उपयोगिता के बारे में बतायेगी। इसी प्रकार से सेंट जॉंस गर्ल्स इंटर कालेज में 8 तारीख को आगरा के स्कूलों के साथ कार्यशाला का आयोजन किया जायेगा जिसमें दृष्टिहीनों बच्चों  की सामान्यग बच्चों  के साथ पढ़ाई के लिये प्रेरित किया जायेगा।

इस अधिवेशन में देशभर से 20 से ज्यादा नामी डिजाइनर भी अपनी भागीदारी कर रहे है, जिसमें वो दृष्टिहीनों की समस्याओं का डिजाइन में भागीदारी करके कैसे समाधान किया जाये पर चर्चा करेगें। इसके अलावा दृष्टिहीनों की नौकरी, पढ़ाई, स्वतंत्रतापूवर्क जीवन यापन आदि पर भी चर्चा होगी।

अधिवेशन में दृष्टिहीनों का म्यूंजिक बैंड भी अपनी प्रस्तुती देगा।

सात से नौ नवम्बर तक होगा सम्मेलन

अंतरदृष्टी संगठन और ब्लाइंड स्टार ग्रुप द्वारा संयुक्त  रूप से आगरा में एक तीन दिवसीय अधिवेशन ‘ब्लांइड स्टार बियांड फेसबुक –ब्रिजिंग द गैप’ का आयोजन 7 से 9 नवंबर 2014 को होगा। इसमें देश भर से 140 से ज्यादा दृष्टिहीनों के शामिल होने की संभावना है। यह सम्मेलन डॉ.बीआर अंबेडकर विश्विविद्यालय के पालीवाल पार्क स्थित गोल्डेन जुबली हॉल में आयोजित किया जाएगा।

क्या हैं ब्लाइंड स्टार्स

अक्टूबर 2012 में मोहम्मइद खालिद, अविनाश, इफत, मोहम्मद सैयद रजा हासनी, कपिल मित्तल आदि दोस्तों ने मिलकर फेसबुक पर ब्लांड स्टार्स के नाम से एक ग्रुप बनाया। जिसका उद्देश्य दृ‍ष्टीहीनों को एक ऐसा मंच दिलाना है, जहां पर वे अपनी समस्याओं को जानकारी को, मिलने वाली मौके को आपस में साझा कर सकें। आज इस ग्रुप में देश-विदेश से लगभग चार हजार से ज्यादा नेत्रहीन लोग शामिल हैं। इसके संचालन के लिए 21 सदस्यीय टीम बनी है। इनमें 20 लोग नेत्रहीन हैं।

Read Also -  सुरक्षित होली - रंगों से कैसे बचाये अपनी आंखों को

तीन दिवसीय कार्यक्रम

07 नवम्बर –

सुबह 10 – 12 बजे : फेसबुक की वर्चुअल दुनिया से वास्तविक दुनिया : चुनौतियां और अवसर।

दोपहर 12 से 01.30 बजे : ब्लाइंड लोगों के लिए मौजूद बैंकिंग सर्विस : कानूनी प्रावधान और अधिकार।

उद्घाटन सत्र : दोपहर 2.30 से 04.00 बजे : राज्यसभा सांसद डीपी त्रिपाठी समारोह का उद्घाटन करेंगे।

अपराह्न 04.15 से 06.00 बजे : मीडिया की भूमिका : नेत्रहीनों को सशक्त बनाने वाला मजबूत स्तंभ।

 

08 नवम्बर

सुबह 09.30 से 10.30 बजे : नेत्रहीन लड़‍कियों को मुख्य धारा में लाना : परिवार की भूमिका और चुनौतियां।

(सुबह 9.30 से 10.30 बजे : सेंट जोंस इंटर गर्ल्स कॉलेज में स्कूलों के अध्यापकों और छात्रों के बीच परिचर्चा।)

सुबह 10.45 से 12.30 : नेत्रहीनों को सामान्य बच्चों के साथ स्कूली शिक्षा : भारतीय परिवेश में ग्रामीण और शहरी वास्तविकताएं।

पूर्वाह्न 11.30 से 01.30 बजे : नेत्रहीन छात्रों की क्षमताओं और उपयोगिता से अवगत कराने को कारपोरेट एचआर विशेषज्ञों के साथ कार्यशाला।

दोपहर 12.35 से 01.35 बजे : नेत्रहीन विवाहित जोड़ों के अनुभव।

दोपहर 02.30 से 03.30 बजे : नेत्रहीन महिलाएं : चुनौतियां एवं अपेक्षाएं।

अपराह्न 03.45 से 06.00 बजे : भारत में सार्वजनिक क्षेत्र में नेत्रहीनों के रोजगार का परिदृष्य।

शाम 06.30 से 08.30 बजे : म्यूजिकल ईवनिंग।

 

09 नवम्बर

सुबह 05.30 से 09.30 बजे : ताजमहल का दौरा।

सुबह 11.00 से 01.00 : सहायक तकनीक और शिक्षा : विभिन्‍न भारतीय भाषाओं में अध्ययन सामग्री की उपलब्धता। (कार्यक्रम स्थल – समाज विज्ञान संस्थान का सभागार)

सुबह 11.00 से 01.00 : फिल्म प्रदर्शन और दर्शकों से बातचीत। (कार्यक्रम स्थल : जुबली हॉल)

दोपहर 02.00 से 03.00 बजे : आगरा घोषणापत्र पर विचार विमर्श।

Read Also -  Govt. reduce blindness by changing definition from 1.20 crore to 80 lakh

अपराह्न 03.00 से 03.45 बजे : देश के नामी डिजाइनर्स के साथ बातचीत।

अपराह्न 04.00 से 5.30 बजे : अवार्ड समारोह और सांस्कृतिक कार्यक्रम।

शाम 05.30 से 06.00 बजे : आगरा घोषणा पत्र की घोषणा।

शाम 06:00 से 06.15 बजे : समापन समारोह।

Like this Article? Subscribe to Our Feed!

Please rate this

About Author

Comments are closed.